सीआरपीएफ के शहीद जवान सुरेश यादव का पार्थिव शरीर आज जौनपुर आएगा

Jaunpur Javaan Suresh Yadav Martyred

श्रीनगर में तैनात सीआरपीएफ जवान सुरेश यादव की मौत से बरैया गांव में शोक की लहर है। चीख-पुकार से घर भर गया। परिजनों के अनुसार बुधवार को शव आने की उम्मीद है।

श्रीनगर के बरैया गांव के सीआरपीएफ जवान सुरेश कुमार यादव (45) सोमवार को शहीद हो गए। उन्हें सीआरपीएफ की 49वीं बटालियन कंपनी में नियुक्त किया गया था। परिजनों के मुताबिक शाम करीब छह बजे मंजू देवी का फोन आया। सोमवार को उन्हें सूचना दी कि उनके पति सुरेश कुमार यादव की मृत्यु हो गई है। खबर मिलते ही घर में भारी भीड़ उमड़ पड़ी। परिवार के सदस्य बेसुध होकर रो रहे थे और मायूस थे। फिलहाल परिजन शव का इंतजार कर रहे हैं।

सीआरपीएफ जवान सुरेश कुमार यादव के बड़े बेटे सूरज बेसुध हो गए। सोमवार दोपहर को उसके पिता ने उसकी मां से फोन पर बात की और उससे बात करने की इच्छा भी की। लेकिन वह उस समय प्रतापगढ़ गया हुआ था। शाम को जब वह घर लौटा तो लोग रो रहे थे। सुरेश कुमार दो बच्चों सूरज और नीरज के पिता हैं। बेटियों में से एक ज्योति की शादी हो चुकी है। सूरज ने बताया कि उसके पिता को 10 दिसंबर को श्रीनगर में ड्यूटी पर बुलाया गया था।