Home पूर्वांचल समाचार सुल्तानपुर – 16 वर्षीय रेप पीड़िता के नवजात बच्चे को चाइल्ड लाइन के कर्मचारियों ने बेच डाला

सुल्तानपुर – 16 वर्षीय रेप पीड़िता के नवजात बच्चे को चाइल्ड लाइन के कर्मचारियों ने बेच डाला

0
सुल्तानपुर – 16 वर्षीय रेप पीड़िता के नवजात बच्चे को चाइल्ड लाइन के कर्मचारियों ने बेच डाला

सुल्तानपुर – जिले में एक चौंकाने वाला मामला सामने आया है। चाइल्ड लाइन में 16 साल की रेप पीड़िता ने एक बच्चे को जन्म दिया, लेकिन उसे बताया गया कि उसका बेटा मर चुका है। पीड़िता ने शिकायत की तो पता चला कि चाइल्ड लाइन कर्मियों ने बच्चे को बेच दिया है।

करीब एक वर्ष पूर्व गोसाईंगंज क्षेत्र के एक गांव की 16 वर्षीय बालिका सुल्तानपुर थाने पर लावारिस मिली थी। रेलवे पुलिस उसे चाइल्ड लाइन ले गई। गांव के एक युवक ने उसका बलात्कार किया था, और मेडिकल जांच से पता चला कि वह गर्भवती थी, जब वहां काउंसलिंग की गई। इसके बाद गोसाईंगंज थाने में शिकायत दर्ज कराने के बाद अपराधी को जेल ले जाया गया।

महिला चाइल्ड लाइन कार्यकर्ता तारा शुक्ला पीड़िता को अपने साथ घर ले आई। कई महीनों तक दोनों को साथ रखा गया। गर्भावस्था समाप्त होने के बाद चुन्हा को करौंदिया में एक नर्सिंग सुविधा में भर्ती कराया गया था। ऑपरेशन के परिणामस्वरूप एक बेटे का जन्म हुआ। महिला कर्मचारी तारा शुक्ला पर उसे बेचने का आरोप है। पीड़िता को बताया गया कि मृत पैदा होने के बाद बच्चे को दफना दिया गया था। जब स्थिति और गंभीर हुई, तो सीडब्ल्यूसी ने जांच शुरू की, और मामला सतह पर सही पाया गया। इसके बाद 13 दिसंबर को पीड़िता की शिकायत के आधार पर गोसाईंगंज थाने में मामला दर्ज कराया गया।

बुधवार को अमहत से कथित तौर पर शिशु पाया गया था, और टीम के सदस्यों को हिरासत में लिया गया था। एसएचओ गोसाईंगंज संदीप राय ने बताया कि बच्ची के मिलने के बाद महिला समेत तीन लोगों को गिरफ्तार किया गया है। गहन पूछताछ के लिए छापेमारी की जा रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here